12 Motivational Stories in Hindi (Short)

Share This Story!
12 Motivational Stories in Hindi

Introduction:

हमने इस पोस्ट में 12 Motivational Stories in Hindi पोस्ट किया है, उम्मीद है के ये Motivational Stories in Hindi आपको मोटिवट और inspire करेंगी।

20 Motivational Stories in Hindi

1. हमेसा कम बोलो

कहा जाता है की, कमान से निकला हुआ तीर और बन्दुक से निकली हुयी गोली और मुंह से निकला हुआ लफ्ज़, कभी वापस नहीं आते।

कम बोलो motivational story
Image from Canva

कुछ ऐसा ही हुआ 1825 में। जब Nicholas russia का राजा बना, तब वहां कई दंगे हो रहे थे। तो राजा ने दंगे खड़े करने वाले मुखिया को ही फांसी देने का हुकम दिया।

तो राजा के आदमियों ने राजा के हुकम से उस मुजरिम को पकड़ा और फांसी के तख्ते पर चढ़ा दिया। और उसे फांसी मिलने ही वाली थी के तभी उसके फंदे की रस्सी टूट गयी। जिसे वो मुजरिम जमीन पर गिर पड़ा।

उस ज़माने में, किसी मुजरिम की फंदे की रस्सी टूटना, ऊपर वाले का चमत्कार माना जाता था। और अक्सर मुजरिम को छोड़ दिया जाता था।

इसीलिए राजा के आदमी फ़ौरन राजा के पास गए और पूरी बात बताई और फिर राजा उसे छोड़ने ही वाला था, तभी एक एडवाइजर ने उन सिपाईयों से पूछा “मुजरिम ज़मीन में गिरने के बाद कुछ बोला था क्या?”

तब सिपाईयों ने कहा “हाँ! वो बोल रहा था, के राजा एक ढँक की रस्सी नहीं बनवा सकता, राज्य क्या ख़ाक चलाएगा ” और उसी वक़्त राजा ने उसको सबके सामने मार दिया।

अगर रस्सी टूटने पर उसने अपना मुंह बंद रखा होता, तो उसपर ये नौबत ही नहीं आती। So, Always Say, Less.

2. Ek Bachi ki Kahani

एक बार एक लड़की अपने पिता से कहती है कि मैं जीवन के संघर्ष से थक गई हूं। एक समस्या ख़त्म होती नहीं कि दूसरी लाइन में खड़ा हो जाता है.

sanghars - struggle motivational story

अपनी बेटी की बातें सुनकर पिता उसे अपने साथ रसोई में ले जाते हैं। और बैठ कर देखने को कहता है. वह तीन बर्तनों में पानी उबालता है। और एक बर्तन में आलू, दूसरे में अंडे और तीसरे में कॉफी बीन्स डालें।

20 मिनट बाद वह अंडा, आलू को प्लेट में और कॉफी को कप में निकाल लिया। और अपनी बेटी को समझाता है कि ये “आलू सख्त से नरम हो गया है“, “अंडा नाजुक से सख्त हो गया” और “कॉफ़ी बीन्स से एक स्वादिष्ट पेय बन गया”

लेकिन ये सब पाने के लिए इन तीनों को गर्म पानी की जद्दोजहद का सामना करना पड़ा, जिसके बाद से उनकी ये हालत हो गई है।

मानव जीवन भी ऐसा ही है, “अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप संघर्ष को कोसेंगे या उससे कुछ सीखेंगे।”

एक अंग्रेजी कहावत है कि, 'There are no free lunches in this world.' (इस दुनिया में कोई मुफ्त लंच नहीं होता।) . आपको हर लक्ष्य के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी.

3. A Clever Tree – बृद्धिमान पेड़

एक समय की बात है, एक घने जंगल में एक बुद्धिमान वृक्ष खड़ा था। यह वृक्ष ऊँचे स्वर्ग की ओर फैलते थे और उसकी जड़ें गहरी धरती में समाई रहती थी। यह वृक्ष अनगिनत तूफानों और कठिन मौसम के बावजूद मजबूत और लंबे समय तक खड़ा रहता था। यह हमें संघर्षशीलता और कठिनाइयों के सामने मजबूत रहने की महत्वपूर्णता सिखाता है।

एक दिन, नई लगाई गई छोटी पौधी ने आस-पास उगना शुरू किया, वह बुद्धिमान वृक्ष की ओर आदर्श रूप से देखती थी। छोटी पौधी ने पूछा, “तुम कैसे मजबूत और स्थिर रहते हो, जबकि तूफान तुम्हारे चारों ओर मचाते रहते हैं?”

बुद्धिमान वृक्ष हल्की झुकी हुई डालों से उसकी ओर संतुलित ध्यान से इशारा करते हुए कहा, “मेरे प्यारी पौधी, जीवन चुनौतियों और कठिनाइयों का एक सिरीसट्रिंग है। तूफान तो मेरे डालों को हिला सकते हैं, बारिश मुझ पर बरसा सकती है, लेकिन मैं धरती में मजबूती से जड़ी हूँ।”

पौधी आश्चर्यचकित हो गई, “लेकिन अगर तूफान बहुत तेज हों तो? अगर मैं काफी मजबूत न हों?”

बुद्धिमान वृक्ष ने धीरे से कहा, “ताकत तूफानों से बचकर नहीं आती है, बल्कि उनके सामने सिर उठाकर होती है। हर एक तूफान जो मैं सहता हूँ, मेरी जड़ें मजबूती से जड़ी रहती हैं। संघर्षशीलता के माध्यम से हम अपनी सही ताकत को पहचानते हैं।”

वर्षों बीतते गए, छोटी पौधी बड़े वृक्ष में बदल गई और उसके पास खड़े वृक्षों में अनेक तूफानों का सामना करने की साझी शक्ति का समय आया।

उनके डालें मिलकर एक-दूसरे की मदद करने लगीं। ऐसा होते ही वन में आसपास की वृक्षों ने इनकी ताकत और संघर्षशीलता से प्रभावित होकर उनके साथ मिलकर खड़े होना शुरू किया।

और फिर, वन में हमेशा यह दृश्य देखने को मिलता था कि जब भी तूफान आते और चुनौतियाँ उठतीं, वृक्षों ने मजबूती से खड़े होकर अपनी डालें हिलाईं, एक साथ स्विंग करते हुए। यह सबको याद दिलाता था कि संघर्षशीलता और अपरिवर्तनीय संकल्प के बिना कोई भी बाधा को पार करना संभव नहीं है।

बुद्धिमान वृक्ष की कहानी हमें सिखाती है कि चुनौतियों के सामने मजबूत और दृढ़ता से खड़े रहना महत्वपूर्ण है। जैसे वृक्ष, हमें अविचलित और अपने मूल्यों में मजबूत रहना चाहिए, जबकि जीवन के तूफान हमें उखाड़ने का प्रयास करते हैं। हमारे संघर्षों के माध्यम से ही हम अपनी सच्ची ताकत का आदान-प्रदान करते हैं और नये स्तरों पर उभरते हैं।

4. गुरु और शिष्य

एक लड़का गुरु जी के पास गया और उनसे कहा ” गुरुजी! में बहुत गरीब हूं मैं अपने मां-बाप को आराम भरी जिंदगी देना चाहता हूं, मुझे कुछ ऐसा दे दो जिससे मैं अमीर बन जाऊं। “

Guru aur shisy Motivational story in hindi

तो गुरुजी ने उस लड़के को एक ऐसी जगह को ले गए जहां पर छोटे-छोटे पत्थर पड़े हुए थे। गुरुजी ने कहा इन पत्थरों में से एक पत्थर ऐसा है जो किसी भी लोहे की चीज को सोने में बदल सकता है। लेकिन तुम्हें उस पत्थर को ढूंढना पड़ेगा। लड़के ने कहा कि इस पत्थर की पहचान कैसे होगी? तो गुरुजी ने कहा वो पत्थर गर्म होगा और बाकी सब पत्थर ठन्डे होंगे। 

लड़का अपने काम में लग गया वह पत्थर को चेक कर रहा था और चेक करे हुए पत्थर को सामने एक नदी थी, तो उस नदी में फेंक रहा था। पत्थर को चेक कर कर रहा था और नदी में फेंक रहा था। 

5 घंटे बीत चुके थे वह लड़का पत्थर उठा रहा था चेक कर रहा था फिर नदी में फेंक रहा था, लगभग एक महीना गुजरने के बाद उस लड़के के हाथ में वह पत्थर आया लेकिन पत्थर को उठकर, नदी में फेंकने की जो उसकी आदत बन चुकी थी, उसने उस पत्थर को भी नदी में फेंक दिया और वह पत्थर फिर से नदी में जाकर उन दूसरे पत्थरों से मिल गया।

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है: हमें हर दिन को इंपॉर्टेंस देना चाहिए, अगर हम अपने हर दिन को हल्के में लेना शुरू कर देते हैं तो किसी दिन ऐसी अपॉर्चुनिटी आती है जिसे हम हाथ से गवा देते हैं। 

5. A Grasshopper Story

एक धूपवाले मैदान में एक चीटी और एक टिड्डा रहते थे। चीटी मेहनती और कठिनाई में लगने वाली थी, वह मेहनत करके जमा किए गए खाद्य सामग्री को सर्दियों के लिए संग्रहित करती थी। वहीं, टिड्डा मौज-मस्ती के पलों का आनंद लेता था और मौजूदा क्षणों का आनंद लेता था।

जब दिन छोटे होते और ठंड होती, सर्दी आ गई। मैदान बर्फीले दृश्य में परिवर्तित हो गया, और खाद्य सामग्री की उपलब्धता कम हो गई। चीटी, इस चुनौती के लिए तैयार रहकर, सर्दियों को सुरक्षित रहने के लिए पर्याप्त भोजन संग्रहित कर रखी थी। वह अपने गर्म और भरपूर भोजन से पोषित होकर अपने आरामदायक भूमिगत घर में बसी रही।

वहीं, टिड्डा अपने आप को एक मुश्किल हालत में पाया। उसने किसी भी भोजन को संग्रहित करने का प्रयास नहीं किया और सख्त सर्दी के लिए तैयारी नहीं की थी। उसकी पेट में भूख महसूस हो रही थी और कोई आहार दिखाई नहीं दे रहा था, टिड्डा ने अपनी गलती समझी।

तब टिड्डा ने अपनी भूल पर खेद प्रकट किया और एक मौलिक सबक सीखा। उसने मेहनत, समर्पण और भविष्य की तैयारी के महत्व को समझा।

“मैं गर्मियों के आसमानी दिनों में मेहनत करता रहा, खाद्य संग्रह करने के लिए खाना जुटाता रहा,” चीटी ने कहा। “तुम मौजूदा का आनंद लेने की प्रशंसा करते हो, लेकिन भविष्य के लिए सोचने और तैयारी करने का महत्व मान्य है।”

अपनी गलती को समझते हुए, टिड्डा निहायत पश्चाताप संवेदनशील (Sensitive) हुआ और एक मूल्यवान सबक सीखा। उसने समझ लिया कि मेहनत, समर्पण और आगे की योजना बनाने में लगाव में सफलता और स्थरियता के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। यह कहानी हमें मेहनत के मूल्य को सिखाती है और तैयारी की महत्वपूर्णता को दर्शाती है।

People Also Read – Short Story in Hindi with Moral

6. A Butterfly Story

एक सुंदर बगीचे में, एक छोटी सी तितली अपनी कोकून में फंस गई। वह मेहनत करती रही और अपनी शक्ति के साथ यह कोशिश करती रही कि वह एक तितली के रूप में मुक्त हो जाए। हालांकि, जैसे ही वह चाहती में लगी, कोकून अच्छी तरह से बंद दिखाई देती थी।

एक दिन, एक दयालु इंसान जब गुजर रहा था, तो उसने इस संघर्ष करती हुई तितली को देखा। उसके हृदय में दया भरी हुई, उसने सोचा कि वह जीव जन्तु की मदद करेगा। उसने छोटी सी कैंची निकाली और कोकून को काट दिया, सोचते हुए कि वह एक अच्छी कार्य कर रहा है।

उसकी आश्चर्यजनक बात थी कि बहुत कमजोर और निर्बल तितली वहां से निकली। उसके पंख विकसित नहीं हो रहे थे, और वह उन्हें उछालने में संघर्ष कर रही थी। दयालु इंसान ने अपनी गलती को महसूस किया – कोकून में होने वाला संघर्ष तितली के लिए ताकत का कारण था।

देखो, अपनी मुक्ति के लिए संघर्ष करते हुए ही तितली के पंख मजबूत हो रहे थे। कोकून की दीवारों के खिलाफ धकेलने की प्रक्रिया ने तितली के नाजुक पंखों में आवश्यक तरल पदार्थों को सर्कुलेट करने की अनुमति दी। कोकून को काटकर, दयालु इंसान ने अनजाने में तितली से उस संघर्ष को हटा दिया, जिसे वह शक्ति प्राप्त करने के लिए आवश्यक था।

यह कहानी हमें एक महत्वपूर्ण सीख सिखाती है संघर्ष करने की महत्व के बारे में। जैसे ही तितली, हमारे जीवन में हम अक्सर संघर्ष और बाधाओं का सामना करते हैं। ये चुनौतियां कठिन और बहुतायती

हो सकती हैं, लेकिन वे एक उद्देश्य को प्राप्त करने, विकास करने और अपनी क्षमताओं को खोजने में मदद करती हैं।

चुनौतियों का सामना करके हम अद्यतन मजबूती, ताकत और चरित्र बनाते हैं। हमें अपने आप को और अधिक सुदृढ़, अधिक क्षमताशाली व्यक्ति बनाने के लिए चुनौतियों का स्वागत करना चाहिए। अपने सामरिकों का सामना करने और उन्हें पार करने के माध्यम से ही हम अपनी असली क्षमता को खोल सकते हैं और महानतम ऊँचाइयों तक उड़ सकते हैं, जैसे कि तितली अंत में गरिमा और सौंदर्य से उड़ती है।

तो, जब आप चुनौतियों का सामना करने के सामने खड़े हों, तो तितली की संघर्ष की कहानी को याद रखें। कठिनाइयों को गले लगाएं, उन्हें पार करें और विश्वास करें कि वे आपको एक मजबूत, अधिक क्षमताशाली व्यक्ति में बदल रहे हैं।

7. A Sage & Men

एक बार की बात है, एक युवक बेरोजगार था और नौकरी खोजने के लिए संघर्ष कर रहा था। एक दिन, जब वह एक नदी के किनारे से गुजर रहा था, उसने देखा कि एक साधु वहाँ बैठा है और जोर-जोर से जप कर रहा है, “तुम जो चाहोगे वह हासिल करोगे!” युवक साधु की बातों से प्रभावित हुआ और उनके पास आया।

उत्सुकतावश, युवक ने साधु से पूछा कि क्या वह उसकी गहरी इच्छा पूरी करने में उसकी मदद कर सकता है। साधु ने मुस्कुराते हुए कहा, “मैं तुम्हें कुछ ऐसा दे सकता हूं जो तुम्हारी यात्रा में reहनुमायी करेगा।” उन्होंने युवक को क्रमशः “समय” और “धैर्य” का प्रतिनिधित्व करते हुए एक हीरा और एक मोती दिया।

साधु ने समझाया, “हीरे को कसकर पकड़ो, और यह तुम्हें जितने चाहें उतने हीरे बनाने में सक्षम करेगा। यह समय के मूल्य और इसे बुद्धिमानी से उपयोग करने के महत्व का प्रतीक है। और जब असफलताओं और निराशाओं का सामना करना पड़े, तो इसे पकड़ो।” धैर्य का मोती। यह आपको कठिन समय में सहन करने और दृढ़ रहने में मदद करेगा।”

सलाह के लिए आभारी होकर, युवक ने साधु को धन्यवाद दिया और नए दृढ़ संकल्प के साथ चला गया। उन्होंने कभी भी समय बर्बाद न करने और अपने जीवन के सभी पहलुओं में धैर्य विकसित करने का निर्णय लिया। अपनी नई समझ के साथ उन्होंने कड़ी मेहनत और लगन से काम करना शुरू कर दिया। उन्होंने बुद्धिमानी भरे निर्णय लेने और चुनौतियों से पार पाने के लिए अपने समय और धैर्य का उपयोग करते हुए हीरे के व्यापार में कदम रखा।

इन वर्षों में, युवक का व्यवसाय फला-फूला और वह एक सफल हीरा व्यापारी बन गया। उन्होंने समय और धैर्य के गुणों द्वारा निर्देशित अपने अथक प्रयासों से वित्तीय स्थिरता और समृद्धि के अपने सपने को साकार किया।

कहानी का सार यह है कि सफलता की राह पर समय और धैर्य अमूल्य संपत्ति हैं। जिस प्रकार युवक ने हीरे और मोती को संजोकर रखा, उसी प्रकार हमें भी चुनौतीपूर्ण समय में धैर्य बनाए रखते हुए अपने समय को संजोकर रखना चाहिए और उसका बुद्धिमानी से उपयोग करना चाहिए। इन गुणों से हम बाधाओं को दूर कर सकते हैं और अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

याद रखें, सफलता उन्हें मिलती है जो अपने समय को महत्व देते हैं और उसका अधिकतम उपयोग करते हैं, और जिनके पास कठिनाइयों के बावजूद बने रहने का धैर्य है।

8. The Wise Farmer – बुद्धिमान किसान

एक बार, एक गाँव में एक बुद्धिमान किसान रहता था। उन्होंने अपनी ज़मीन पर कड़ी मेहनत की, बीज बोए और अपनी फसलों की देखभाल की। कठिन समय के दौरान, जब उनके साथी किसानों ने चुनौतियों के बारे में शिकायत की, तो बुद्धिमान किसान आशावादी बने रहे और दृढ़ रहे। उनका मानना ​​था कि कड़ी मेहनत, धैर्य और दृढ़ संकल्प से भरपूर फसल होगी।

उनका विश्वास रंग लाया और उन्हें अपने समर्पण और सकारात्मक मानसिकता का लाभ मिला। कहानी हमें सफलता प्राप्त करने में आशावाद, कड़ी मेहनत और दृढ़ता का महत्व सिखाती है।

9. The Determined Spider – दृढ़ निश्चयी मकड़ी

एक कमरे के एक कोने में एक मकड़ी ने जाला बनाने की कोशिश की। हर बार जब यह जाल बुनता था, तो पास से गुजरने वाले लोग इसे नष्ट कर देते थे। लेकिन मकड़ी ने हार नहीं मानी. इसने दृढ़ संकल्प के साथ बाधाओं और असफलताओं का सामना करते हुए अपने जाल का पुनर्निर्माण जारी रखा। आख़िरकार, मकड़ी एक मजबूत और जटिल जाल बनाने में सफल हो गई। कहानी हमें चुनौतियों का सामना करने में लचीलेपन और दृढ़ता का मूल्य सिखाती है।

10. The Tiny Seed – छोटा बीज

एक बार, एक छोटा सा बीज बंजर भूमि पर गिर गया। अपने छोटे आकार और प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद, बीज ने कभी उम्मीद नहीं खोई। इसने जड़ें निकालीं, मिट्टी से पोषण मांगा और एक सुंदर पौधे के रूप में विकसित हुआ। समय के साथ, यह एक शक्तिशाली पेड़ बन गया, जो छाया प्रदान करता था और फल देता था। कहानी हमें याद दिलाती है कि चाहे हम कितना भी छोटा या महत्वहीन क्यों न महसूस करें, सही मानसिकता और दृढ़ता के साथ हम महान चीजें हासिल कर सकते हैं।

11. The Gift of Failure – असफलता का उपहार

एक युवा कलाकार ने एक चित्रकला प्रतियोगिता में भाग लिया लेकिन जीत नहीं पाया। निराश होकर कलाकार ने उनकी प्रतिभा और जुनून पर सवाल उठाया। हालाँकि, कलाकार ने हार मानने के बजाय अनुभव से सीखने का फैसला किया। उन्होंने अधिक अभ्यास किया, फीडबैक मांगा और अपने कौशल में सुधार किया। आख़िरकार उनकी मेहनत रंग लाई और वे एक मशहूर कलाकार बन गए। कहानी हमें सिखाती है कि असफलता अंत नहीं बल्कि विकास और सुधार का अवसर है।

12. The Power of Unity – एकता की शक्ति

एक जंगल में पक्षियों का एक समूह रहता था जो मिलजुल कर रहते थे। जब भी कोई शिकारी उन्हें धमकी देता था, तो वे एक साथ इकट्ठा होकर एक मजबूत झुंड बना लेते थे। उनकी एकता और सहयोग ने उन्हें एक-दूसरे की रक्षा करने और चुनौतियों पर काबू पाने की अनुमति दी। कहानी हमें समान लक्ष्यों को प्राप्त करने और प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करने में एकता और टीम वर्क का महत्व सिखाती है।

इन लघुकथाओं का उद्देश्य व्यक्तियों को सफलता और व्यक्तिगत विकास की खोज में दृढ़ संकल्प, लचीलापन, कड़ी मेहनत और एकता जैसे सकारात्मक गुणों को अपनाने के लिए प्रेरित करना है।

Kuch Behtarin KahaniyaShort Motivational Stories in Hindi (Best Stories)

5/5 - (1 vote)

Love to write stories about morality and motivational.

2 thoughts on “12 Motivational Stories in Hindi (Short)”

Leave a Comment