कामियाबी का राज़ – Hindi Motivational Story Short

Share This Story!

इस Hindi Motivational Story Short में आपको कामियाबी के राज़ के बारे में पता लगेगा। की कामियाब लोग कैसे हर बार कामियाब हो जाता हैं, और हम जहाँ के वहीँ।

Hindi Motivational Story Short

एक बार की बात है, एक नाकामयाब आदमी, एक कामयाब आदमी के पास जाता है। वह जीस कामयाब आदमी के पास जाता है, उस आदमी की खास बात यह थी कि वह जो भी काम शुरू करता था, उसमें कामयाबी ही हासिल करता था। 

इसी बात को लेकर उस नाकामयाब आदमी ने उस कामयाब आदमी से पूछा कि ” आपकी कामयाबी का राज क्या है? ” क्योंकि मैं भी अपनी जिंदगी में कामयाब होना चाहता हूं! यह बाते सुनकर वह कामयाब आदमी उसे कहता है कि ” मेने नाकामयाब और असफल लोगों से ही सफल होना सीखा है! “

2 businessmen are sitting and talking

तो वो नाकामियाब आदमी हैरान हो गया और उसने कहा कि ” क्या कोई असफल लोगों से भी सफल होना सीख सकता है? ” तब उस कामयाब आदमी ने मुस्कुराते हुए उसे कहा कि ” यह सच है! कि असफल लोगों से ही मैंने अपनी जिंदगी में सफल होना सीखा है। “

यह कामयाब होने का ऐसा तरीका है, जिसे मेरे जैसे बहुत से कामयाब लोग अपनी जिंदगी में अप्लाई करते हैं। यह सुनने के बाद वह नाकामयाब आदमी ने कहा कि ” क्या नाकामयाब लोगों से भी, कामयाबी के बारे में सीखा जा सकता है? “

पर अगर सीख जा सकता है, तो कैसे? फिर कामयाब आदमी ने उससे पूछा कि ” पहले मुझे तुम यह बताओ कि तुम असफल कैसे हुए? ” नाकामयाब आदमी ने उसे बताया कि ” पहले मैं भी एक अमीर आदमी था! लेकिन अपने बल पर कुछ करने के लिए और सफलता पाने के लिए, मैंने एक बहुत बड़ी कंपनी शुरू की थी। “

2 big company side by side

लेकिन जल्दी सफलता पाने के लिए, मेने उसी साल एक और कंपनी शुरू कर दी थी। जिसमे मैंने अपना बचा हुआ पैसा भी लगा दिया था। मेने जल्दबाजी में दो कंपनियां शुरू कर दी थी और अपनी किसी भी कंपनी को पूरा और ठीक से वक़्त नहीं दे पाया। 

फिर कुछ समय के बाद मेरी दोनों कंपनियां लॉस में आ गई। मैं दोनों कंपनियों से होने वाली लॉस को प्रॉफिट में बदल सकता था। लेकिन मेरे पास उन लॉस को भरने के लिए, कुछ भी पैसे नहीं बचे थे। धीरे-धीरे करके दोनों कंपनियों का लॉस बढ़ता ही चला गया। 

और दूसरी ही साल, मेरी दोनों ही कंपनियां बंद हो गई। इसलिए मैं आज एक नाकामयाब इंसान हूं। अब यह सब सुनने के बाद, वह कामयाब आदमी मुस्कुराते हुए उसे बोला ” आपकी असफलता की दो वजह थे! पहला यह कि आपने 2 कंपनियां एक ही साल में शुरू कर दी। “

” जिससे आप किसी भी एक कंपनी को पूरा समय नहीं दे पाए। और दूसरा यह कि आपने अपनी कंपनियों में, बहुत सारे पैसे लगा दिए। और जब आपको लॉस हुआ तो उससे बचने के लिए, आपके पास एक भी पैसा नहीं बचा था। “

तभी नाकामयाब आदमी ने कहा कि ” हां यह सच है! ” फिर कामयाब आदमी ने उस आदमी की तरफ देख कर कहा ” फिर आपने इस असफलता से क्या सीखा? ” फिर नाकामयाब आदमी ने कहा कि ” मैं अपनी असफलता से, भला सिख भी क्या सकता था! अगर सफल होता तो बहुत कुछ सीखता। “

तभी कामयाब आदमी ने कहा ” क्या आपने अपनी सफलता से कुछ भी नहीं सीखा? ” इसीलिए आप आज भी एक असफल इंसान है और मैं आप ही की तरह असफल लोगों से सीख कर, आज एक कामयाब इंसान हूं। 

मैं असफल लोगों के जरिये की गई गलतियों से सिखता हूं और उन गलतियों को अपनी जिंदगी में नहीं करता। यही मेरी कामयाबी का सबसे बड़ा राज है। 


दोस्तों इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है: कि जिंदगी में हम सफल और कामयाब लोगों से यह सीख सकते हैं कि " हमें जिंदगी में क्या करना चाहिए। " लेकिन हम असफल लोगों से यह सीख सकते हैं कि " हमें जिंदगी में क्या नहीं करना चाहिए। और जिंदगी में कामयाब होने के लिए हमें क्या नहीं करना चाहिए, यह चीज भी बहुत मायने रखती है।"

तो अगर आप इस Hindi Motivational Story Short को दूसरे लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो इस कहानी को दिए गए सोशल आइकॉन के मदद से, अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को शेयर कीजिए। 

1.8/5 - (17 votes)

Love to write stories about morality and motivational.

1 thought on “कामियाबी का राज़ – Hindi Motivational Story Short”

Leave a Comment

WhatsApp Channel Join Now