लोग क्या कहेंगे? – Inspirational Kahani In Hindi

Share This Story!

इस Inspirational Kahani In Hindi में आपको ये बातें समझ में आ जायेगा, की आपको लोगों की बातें सुन्नी चाहिए या नहीं। बेस्ट Inspirational Kahani है।

Inspirational Kahani In Hindi

Inspirational Kahani In Hindi

एक बार की बात है एक बाप और बेटा अपने गधे के साथ अपने गांव की तरफ जा रहे थे। बाप ने अपने बेटे को गधे पर बिठाया हुआ था, और खुद गधे के साथ पैदल चल रहा था।

थोड़ी देर के बाद जब वह दोनों किसी गांव से गुजर रहे थे तो कुछ लोगों ने उन्हें देखा और उन्हें देखकर कहा कि ” कैसा बेटा है, जो खुद गधे के ऊपर बैठा हुआ है, और अपने बुजुर्ग आप को पैदल चल रहा है।”

लोगों की यह बातें सुनने के बाद, बेटा गधे से नीचे उतर गया और उसने अपने बाप को गधे के ऊपर बिठा दिया। और फिर से दोनों अपने गांव की तरफ चलने लगे।

थोड़ी देर के बाद फिर से जब वह दूसरे गांव से गुजर रहे थे, तो उसे गांव के लोगों ने भी उन्हें देखा और कहा ” की कैसा बाप है जो खुद गधे के ऊपर बैठा हुआ है और अपने मासूम से बेटे को पैदल चल रहा है। “

लोगों की यह बात सुनने के बाद आप भी गधे से नीचे उतर गया और अब गधे पर ना ही बाप बैठा हुआ था और ना ही बेटा। और वह दोनों बाप बेटे पैदल चल रहे थे अब वह दोनों भी चलते-चलते जंगल के रास्ते में पहुंच जाते हैं।

उसी रास्ते से कुछ और भी लोग गुजर रहे थे जब उन लोगों ने इन दोनों बाप बेटे को देखा, और उन लोगों ने देखा कि उनके पास एक गधा भी है, और फिर भी यह दोनों पैदल चल रहे हैं, तो उन लोगों ने इन्हें देखकर कहा ” की कैसे बेवकूफ लोग हैं, कि इनके पास गधा होने के बाद भी ये दोनों पैदल चल रहे हैं! “

अब लोगों की यह बात सुनने के बाद वह दोनों भी आप और बेटे उसे गधे के ऊपर बैठ गए, और अपने गांव की तरफ चलने लगे। लेकिन फिर से थोड़ी दूर जाने के बाद, लोगों ने जब इन दोनों बाप बेटे को गधे के ऊपर एक साथ बैठा हुआ देखा, तू कहने लगे की ” कैसे इंसान है! जो दोनों ही एक साथ उस बिचारे कमजोर गधे के ऊपर बैठे हुए हैं, “

और उसे गधे की जान निकल रहे हैं। इन दोनों के अंदर जरा भी दया नहीं है। अब यह सुनने के बाद दोनों बाप बेटों का दिमाग खराब हो गया, और वह समझ गए कि अगर हम इन लोगों की बातें सुनते रहेंगे, तो हम कभी भी अपनी मंजिल पर नहीं पहुंच पाएंगे। 

दोस्तों हमें इस कहानी से यह सीख मिलती है कि लोगों की बातों पर ध्यान मत दो जितने लोग हैं उतनी बातें होती रहेगी। और हम इस दुनिया में सभी को खुस नहीं कर सकते हैं।  इसीलिए जो आपको सही लग रहा है, जिसमें आपका फायदा है उस बात का अपने दिमाग के आधार पर सही डिसीजन लो। 

लोग आज कुछ कहते हैं तो कल कुछ और। इसीलिए हमें लोगों पर नहीं बल्कि अपने काम पर ध्यान देना है अपनी मंजिल पर ध्यान देना है, और आगे बढ़ते रहना है। अगर हम इसी तरह लोगों की बातें सुनते रहे तो हम कभी भी आगे नहीं बढ़ पाएंगे। और उनकी बातों में उलझ कर रह जाएंगे। 

ये Inspirational Kahani In Hindi आपको केसी लगी? कमेंट करके जरूर बताईये।

राजा और पत्थर – Inspirational Kahani In Hindi

Inspirational Kahani In Hindi

एक बार एक राजा ने, अपने राज्य के एक रास्ते में, बड़ा सा पत्थर रखवा दिया। और खुद जाकर एक बड़े से पेड़ के पीछे खड़ा हो गया और छुप कर उस रास्ते पर नजर रखने लगा, यह देखने के लिए की कौन उस बड़े से पत्थर को रास्ते से हटता है। 

थोड़ी देर के बाद उस रास्ते पर कुछ लोग आते हैं, और उन लोगों को जब रास्ते पर एक बड़ा सा पत्थर दिखता है, तो वह लोग रास्ता बदल देते हैं और दूसरी रास्ते से चले जाते हैं। 

फिर थोड़ी देर के बाद उसे रास्ते पर राजा की राजमहल की जो काम करने वाले थे वह आते हैं, और वह भी जब इस बड़े से पत्थर को देखते हैं तो बिना उस पत्थर को रास्ते से हटाए, वो सब वहां से पलट कर चले जाते हैं। 

और उल्टा राजा को ही बुरा-भला कहना शुरू करदिया, और बोले के ” राजा अपने राज्य का काम ठीक से नहीं कर रहा है। इतने बड़े-बड़े पत्थर रास्ते पर पड़े हुए हैं, राजा को इसको हटाना चाहिए, लेकिन राजा का इसके तरफ ध्यान ही कहां है! “

यह कहकर वह वहां से चले जाते हैं। फिर थोड़ी देर बाद उसे रास्ते पर एक सब्जी वाला आता है, जिसके कंधे पर सब्जियां थी, और जब वह बड़े से पत्थर को देखा है, तो वह अपने कंधे से सब्जियों का टोकरी रख कर, उसे पत्थर को हटाने की कोशिश करता है। 

और बहुत मेहनत के बाद, वह सब्जी वाला उस बड़े से पत्थर को रास्ते से हटा देता है। जैसे ही उस पत्थर को रास्ते से हटता है, उस पत्थर के नीचे बहुत सारे सोने के सिक्के और एक चिट्ठी रखी हुई थी। 

जिसमें लिखा था ” कि इनाम राजा की तरफ से, पत्थर हटाने वाले के लिए है! ” और यह सब होते हुए पेड़ के पीछे से राजा खुद देख रहा था। राजा उस आदमी के पास जाता है और उस आदमी को राजा, अपने महल का सबसे खास आदमी बना लेता है। 

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है, कि हमारे रास्ते में आने वाली परेशानियां, रुकावटें, और मुश्किलें हमें बेहतर करने और आगे बढ़ने का मौका देती है। इसीलिए जिंदगी में जब भी ऐसा मौका मिले, तो उस मोके को अपने हाथ से गवाह मत। बहुत से लोग ऐसे वक्त में मुश्किल काम को देखते ही, अपना कदम पीछे हटा लेते हैं। 

लेकिन जब सब पीछे हट जाएं तो आप सामने आ जाओ, क्योंकि जीत उन्हीं को मिलती है जो परेशानियां, और रुकावटें में अपॉर्चुनिटी ढूंढते हैं। और जब मौका मिलता है, तो वही मां का आपका फ्यूचर को बेहतर बनाती है।

आपको ये पत्थर वाली Inspirational Kahani In Hindi, केसी लगी? कमेंट करके जरूर बताएं।

5/5 - (3 votes)

Love to write stories about morality and motivational.

3 thoughts on “लोग क्या कहेंगे? – Inspirational Kahani In Hindi”

Leave a Comment